मरुस्थल के बीचोबीच बसा ये गांव, टूरिस्ट के लिए है पैराडाइज

साउथ पेरु के आइसा शहर से महज आठ किमी दूर एक गांव है जो एक घने मरुस्थल के बीचोबीच बसा हुआ है। जिसका नाम हुआकाचाइना है। इस छोटे से खूबसूरत गांव में एक छोटा झील भी है जो मरुस्थलीय सतह से सैकड़ों फीट नीचे है।

यहां कुल नब्बे घर हैं जिसमें लोग रहते हैं। ये एक रिमोट एरिया है लेकिन यहां के रहवासियों ने इसे काफी खूबसूरती से सजा कर रखा हुआ है।

पैसिफिक कोस्ट से यह स्थान बस एक घंटे की ड्राइविंग की दूरी पर है। नजदीकी शहर आइसा के अमीर परिवारों के लिए ये जगह एक टूरिस्ट प्लेस बन चुकी है वे यहां समय समय पर रिलैक्स करने आते हैं। इसके साथ ही अरब देश के लोगों के लिए भी ये फेवरेट जगह है जिनका काम पूरी दुनिया में घूमना होता है।

इस खास जगह पर ज्यादातर रिजॉर्ट्स और रेस्ट्रॉं ही है इसेक साथ ही यहां एक ब्लु गार्डन भी है जो चारों तरफ से रेतीले टीलों से घिरी हुई है। इस गांव में तकरीबन 100 लोग ही मुश्किल से रहते हैं जिनका गुजारा टूरिस्ट लोगों से आने वाली कमाई से ही होता है।

इसके इतिहास की बात की जाए तो पेरुवियन लोगों के द्वारा 1990 तक टूरिस्ट के क्षेत्र में इसका काफी प्रमोशन किया गया। आज ये बैगपैकर्स के लिए एक पैराडाइज की तरह बन गया है। जिन्हें मरुस्थल में सैर करना पसंद है उनके लिए ये टॉप डेस्टिनेशन साबित हो रही है। रात के समय इस गांव का नजारा देखते ही बनता है।

लोगों का कहना है कि ये उत्तरी और दक्षिणी अमेरिका में एक सिंगल नेचुरल प्लेस बचा है जो मरुस्थल के बीचोबीच बसा हुआ है।

Read Also:  लाइफ से चाहिए ब्रेक, प्लान करें इस साल के बेस्ट एडवेंचर डेस्टिनेशन ट्रिप