झील के उपर तैरते घर देखा है आपने

Bokodi, Bokodi Budapaste, Floating cottage at Bokodi, Floating house at Bokodi Budapaste, travel, Travel news, Travel article, Travel update, Travel update in hindi, Dailydozze.com

हंगरी के बुडापेस्ट के पश्चिम से 80 किलोमीटर दूर बोकोड गांव में एक झील है जिसका नाम इस गांव के नाम पर ही पड़ा है, बोकोड़ी झील। ये एक कृत्रिम झील है जिसे 1961 में वहां के एक थर्मल पावर कंपनी के द्वारा बनाया गया था। दरअसल पावर प्लांट इस झील से कोल्ड वॉटर लेकर अपने प्लांट का बॉयलर मशीन चलाने के लिए इस्तेमाल में लिया करते थे, बदले में प्लांट से निकले गर्म पानी को इस लेक में वापस कर दिया जाता था। इस लगातार वॉटर रिसायक्लिंग प्रक्रिया से ठंडे के मौसम में भी इस झील का पानी कभी जमता नहीं है।

सालों बाद ये कृत्रिम झील लोगों के लिए फिशिंग करने का एक अच्छा साधन बन गया। इसके लिए लोकल लोगों ने ही इस झील के उपर लकड़ी के कॉटेज बनाकर वहां पर रहकर अपना फिशिंग का काम करना शुरु कर दिया। बाद में ये जगह लोगों के बीच फ्लोटिंग हाउस (तैरता हुआ घर) के नाम से काफी लोकप्रिय हो गया। नवंबर 2013 में ये जगह लोगों की नजरों में आया और ये ग्लोबली काफी फेसम हो गया साथ ही एक टूरिस्ट प्लेस बन गया। इसके बाद इस ये गांव का रिमोट एरिया भी इंटरनेट और वर्ल्ड टूरिज्म के मैप पर फेमस हो गया।

झील की खूबसूरती के अलावा यहां पर इस गांव के लोकल लोग फिशिंग करने आते हैं क्योंकि कितना भी ठंड का मौसम हो ये झील कभी बर्फ में तब्दील नहीं होता। हालांकि 2015 में पावर प्लांट बंद हो गया था जिसके बाद झील में गर्म पानी का सप्लाय भी बंद हो गया था। इसके कारण टूरिज्म भी प्रभावित हुआ था।

Read Also:  मरुस्थल के बीचोबीच बसा ये गांव, टूरिस्ट के लिए है पैराडाइज

Source-Theamusingplanet.com